Thursday, 26 January 2017

 Updated: Jan 25, 2017, 

ट्रैक पर पड़ा था , टाला बड़ा रेल हादसा

महाप्रबंधक ने किया सम्मानित

मुंबई: मध्य रेलवे के लोको पायलट की सूझ-बूझ से एक बड़ा रेल हादसा टल गया। इस कार्य के लिए लोको पायलट और असिसटेंट लोको पायलट को सम्मानित किया गया है। मामला दिवा स्टेशन के पास का है, जहां 15 फुट का लोहे का टुकड़ा पटरी पर रखा पाया गया था। ठाणे रेलवे पुलिस ने इस मामले में अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

शरारती तत्वों की कार्यवाही का संदेश

मध्य रेलवे के अनुसार, दिवा स्टेशन के पास मंगलवार की रात 10.37 बजे अप थ्रू फास्ट कॉरिडोर की पटरी पर अज्ञात शरारती तत्वों ने 400 किलो ग्राम का 7 मीटर लंबा ट्रैक का टुकड़ा रख दिया था। उस समय वहां से मडगांव जन शताब्दी एक्सप्रेस पास हो रही थी। रात के अंधेरे में असिस्टेंट लोको पायलट हारिस चिंचोले ने ट्रैक पर पड़ा लोहे का रॉड देखा। उन्होंने इसकी सूचना फौरन लोको पायलट हरेंद्र कुमार को दी। हरेंद्र ने सूचना मिलते ही ट्रेन रोक कर इसकी सूचना दिवा के स्टेशन मास्टर को दी। इसके बाद लोहे की रॉड ट्रैक से हटाई गई। यदि असिस्टेंट लोको पायलट और लोको पायलट ने त्वरित कार्रवाई नहीं की होती, तो निश्चय ही एक बड़ा हादसा हो जाता। फिलहाल ठाणे जीआरपी मामले की जांच कर रही है।

दोनों रेलकर्मियों का हुआ सम्मान

रेल हादसे को टालने वाले लोको पायलट हरेंद्र कुमार और सहायक लोको पायलट हरीश चिंचोले को मध्य रेलवे द्वारा सम्मानित किया गया।

0 comments:

Post a comment

Popular posts